Ads Area

मनोरंजन :उर्फी जावेद सिर्फ बारहवीं पास है! पैसो के लिए करती थी ये काम

 मनोरंजन :उर्फी जावेद सिर्फ बारहवीं पास है! पैसो के लिए करती थी ये काम

मनोरंजन :उर्फी जावेद सिर्फ बारहवीं पास है! पैसो के लिए करती थी ये काम

मनोरंजन 

नई दिल्ली, हाल ही के एक इंटरव्यू इवेंट में उर्फी ने अपने से जुड़े कई सारे सवालों से पर्दा उठाया। जब उर्फी से उनकी एजुकेशन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बोला की वो कॉलेज बस 6 महीने के लिए गयी है. उर्फी को बंक करना बड़ा पसंद था. वो अक्सर कॉलेज दिनों में बंक मार कर ऑडिशन देने चली जाती थी. ऐसे में उर्फी को कॉलेज लाइफ एक्स्प्लोर करने का ज़्यादा मौका नहीं मिला।

फैशन डीवा उर्फी जावेद (Urfi Javed) हर दिन अपने अतरंगी फैशन सेंस से ऑडियंस को सरप्राइज करती रहती है. यही नहीं उर्फी को देखने और फॉलो करने वालों की कमी नहीं है. बीते दिनों में उर्फी के बारे में एक बोल्ड बात ये पता चली थी की उर्फी हेटर्स को करारा जवाब देने में भी आगे है, इससे तो साफ़ पता चल गया है कि उर्फी अपने आगे किसी की भी नहीं सुनती।

यूँ तो हम सब सोशल मीडिया पर उर्फी और उर्फी के फैशन आर्ट को आय दिन देखते रहते है लेकिन बहुत कम लोग ही उर्फी के पास्ट से जुड़ी बातों के बारे में जानते है. हाल ही में एक इंटरव्यू में उर्फी ने कुछ ऐसे सवालों के जवाब दिए जिनके बारे में शायद ही कोई जानता हो. 

ये काम किया था उर्फी ने, पहली कमाई थी दो हज़ार रुपए

अपने पहली कमाई के बारे में बात करते हुए मॉडल ने बताया कि पैसों की कमी होने के कारण उर्फी ने एक बैकेंड शो किया था जिससे उन्हें करीब 2000 रुपए मिले थे. सोर्स से पता चला कि उर्फी की ख्वाइश थी कि वह लीड रोल करे लेकिन उन्हें चांस नहीं मिल पाया. लेकिन शुरू में, मेकर्स ने उन्हें एक ऐसा रोल ऑफर किया जिसमे उर्फी को एक अनजान लड़के के साथ लव मेकिंग सीन करने थे. पैसो की तंगी होने के कारण उर्फी ने वो ऑफर मान लिया। इस पर उर्फी ने कहा कि शुरुआती दौर में पैसो के लिए कई सारे छोटे मोटे रोल करने का उन्हें अफ़सोस है.

कौन डिजाइन करता है उर्फी की ड्रेस

उर्फी के बोल्ड अंदाज़ और फैशन सेंस के बारे में बाते करने वालो की कमी नहीं है और उर्फी ने ये बात साफ कर दी है कि उन्हें किसी की बातों से कोई फर्क नहीं पड़ता। यहाँ तक कि उर्फी अपने रिव‍िल‍िंग फैशन के साथ पब्लिक में भी खुल कर नज़र आती है. उर्फी ने अपने छोटे कपड़ो पर कहा कि वो पहले भी ऐसे ऑउटफिट और बेबाक स्टाइल को फॉलो करती थी, लेकिन “अब मैं चर्चो में रहने लगी हूँ तो ये एक नया मुद्दा बन गया है.” उर्फी को पहले अपने मन के मुताबिक डिज़ाइनर कपडे मिलते नहीं थे तो ऐसे में उर्फी अब अपने लिए खुद ही कपड़े डिज़ाइन करती है.

Tags

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad