VSong: 12 Bajay
Singer: Atif Aslam
Danish Khawaja - Guitar
Zain Ali - Guitar
Sameer Ahmed - Bass
Arsalan Rabbani - Keys and Organ
Alfred Peter D’mello - Drums
Sharoon Leo - Violin


Download as MP3


रोज़  रोज़  मिलने  लगे 
और  कहने  लगे  दिल  की  बात 
तुझको  न  शर्म  थी  मुझसे 
न   ही  कोई  ऐतराज़ 
हम  नसीब  से  मिलने  लगे  हर  बार 
तुम  लेके  चले  कभी  मुझे  उस  पार 
12  बजे  … 12 बजे  …
हम  घर  से  सुबहो  करके  निकले 
12  बजे  … 12 बजे  …
घ r से  निकले  हम  सुबहो  करके 

किस  तरह  ऐतबार  दुनिया  पे 
चोर  हैं  बाज़ारों  में 
क्या  यह  ख़ामोशी  हंसती  रहेगी 
हमारे  बीच  में 
अभी  भी  तोह  हैं  मेरी  शामों  में 
सुबहो  की  रौशनी 
तेरा  नशा 
बढ़ने  लगा 
बढ़ता  गया  मेरी  रातों  में 

12  बजे  … 12 बजे  …
हम  घर  से  सुबहो  करके  निकले 
12  बजे  … 12 बजे  …
घर  से  निकले  हम  सुबहो  करके

धुत्त  होक  इतना  ज़िन्दगी  में 
जैसे  प्यार  के  नशे  में 
कैसी  बातें  करने  लगे 
बेवजह  हम  हँसते  रहे 
साड़ी  रात , सारा  दिन  में 
कुछ  न  पता  चला 
कहाँ  गया  वो  वक़्त 
हँसते  रहे 
गिरते  रहे 
मरते  रहे  वो .. हो …

12  बजे  … 12 बजे  …
तेरे  घर  से  सुबहो  करके  निकले 
12  बजे  … 12 बजे  …
घर  से  निकले  हम  सुबहो  करके 
Axact

Amrita Kaur

Entertainment News.

Post A Comment:

0 comments: